Desi Khani

जिस्म का सौदा

जिस्म का सौदा


Warning: printf(): Too few arguments in /home3/itsmedanyal/public_html/waqas/shahid/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
रा नाम सीमा है, यह बात तब की है जब मैं ग्यारहवीं कक्षा में पढ़ती थी। मैं दिल्ली में अपनी दीदी और जीजा के साथ रहती हूँ। मेरी दीदी मुझसे बहुत प्यार करती हैं। यह मुझे तब पता चला, जब मुझे गयारहवीं कक्षा में फेल कर दिया गया। इस बात को सुन कर मेरी दीदी बहुत दुःखी हुईं, और मैं भी बहुत उदास हो गई। जब दीदी ने मुझे उदास देखा तो वो मेरे स्कूल की टीचर से मिलने चली गईं, और मैं भी उनके साथ चली गई। वहाँ जाकर दीदी ने मेरे स्कूल टीचर से बात की तो वो कहने लगे कि अब कुछ नहीं हो सकता है।मैं बता दूँ कि मेरी दीदी की उमर 27 साल है। उनका नाम रानी है। जब बात नहीं बनी, तो दीदी रोने लगीं, और उनके पैर पकड़ने लगीं। मुझे यह सब देख कर बहुत बुरा लग रहा था कि मेरी वजह से उन्हें किसी के पैर पकड़ने पड़ रहे हैं। तब भी मेरा खडूस टीचर नहीं माना।थोड़ी देर बाद दीदी के बहुत कहने पर उसने उसने मेरी दीदी को घूर कर अपनी वासना भरी नजरों से