Desi Khani

समलैंगिकतेसंदर्भात कायदा काय आहे?

Sandhya Madam Ki Chut Ka Ras lesbian sex stories

Sandhya Madam Ki Chut Ka Ras lesbian sex stories


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/32/d715214918/htdocs/mydesibaba/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
Sandhya Madam Ki Chut Ka Ras lesbian sex stories Sandhya Madam Ki Chut Ka Ras lesbian sex stories Hello dosto mera naam Honypreet hai aur main Kishmir ki rehne wali hoon. Meri umar 19 saal hai aur main abhi study kar rhi hoon. Mere ghar me main aur mere mummy papa hai. Mere papa ek goverment job karte hai. Par unki job goverment hote hue bhi ek tarah se private hai. Kyoki unki salary bahot kam aur sab se badi dikat ye hai ki unki transfer har saal ho jati hai. Jis vajah se hum har saal dusri jagah shift karna padta hai. Dusri jagah shift karne ke chakar me meri study ka bahot jyada nuksan hota hai. Main abhi **th class me hoon. Aur agar main lesbian sex stories ek hi school me padhti toh aaj main college ke 2nd year me hoti. Ye sab meri papa ki job ki vajah se hua hai. Mujhe
அம்மா உமா

அம்மா உமா


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/32/d715214918/htdocs/mydesibaba/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
அம்மா உமா வீடு கலகலப்பாக இருந்தது. அன்றுதான் அவர்கள் புதிதாக கட்டிய வீட்டிற்க்கு குடி வந்துள்ளனர். ஐயர் ஹோமம் வளர்த்துகொண்டிருந்தார். அங்கும் இங்கும் பரபரப்பாக பூஜை வேளைகளை பார்த்துக்கொண்டும் வந்தவர்களுடன் புன்னகையுடன் பேசிக்கொண்டிருந்த அம்மா உமாவை வைத்த கண் எடுக்காமல் பார்த்துகொண்டிருந்தான் பிரபு. 38 வயதில் அம்மா உமா அவ்வளவு அழகாக இருந்தாள். உமா ராஜன் தம்பதியர்க்கு 18 வயது மகள் லதா கல்லூரியில் படிக்கிறாள், மகன் பிரபு 14 வயது 10வது படிக்கிறான். கணவர் தனியார் கம்பனியில் வேலை, நிறைவான சம்பளம். அனால் மனைவி உமாவுக்கு ஒரு விஷயத்தில் தீராத கவலை. என்னதான் கணவருக்கு நல்ல சம்பளம் குடும்பத்தை நன்றாக கவனித்து கொண்டாலும் இரவில் தன்னை படுக்கையில் நன்றாக உடலுறவில் திருப்தி படுத்துவதில்லை என்பது தீராத மனக்குறை. திருமணமாகி 18 வருடங்கள் ஆகி விட்டது . இந்த 18 வருடங்களில் விரல் விட்டு எண்ணும் அளவுக்கே

समलैंगिकतेसंदर्भात कायदा काय आहे?


Warning: printf(): Too few arguments in /homepages/32/d715214918/htdocs/mydesibaba/wp-content/themes/viral/inc/template-tags.php on line 113
भारतीय दंडसहिता कलम ३७७ नुसार समलिंगी संबंधांना तर मान्यता नाहीच; पण मुखमैथुन, गुदमैथुन त्याचप्रमाणे हस्तमैथुन करणे याला कायद्याची मान्यता नाही, हे लक्षात घेण्यासारखं आहे. अशा प्रकारे संबंध करणार्‍या व्यक्तींना जन्मठेप अथवा काही वर्षांच्या कारावासाची शिक्षा होऊ शकते. या कायद्यामुळे भारतीय राज्यघटनेच्या समान अधिकार, व्यक्तिस्वातंत्र्य या कलमांचे उल्लंघन होते, असा आग्रह धरून या कायद्यात कालोचित बदल करण्याच्या मागणीसाठी काही सामाजिक संस्थांनी मिळून हायकोर्टामध्ये जनहित याचिका दाखल केलेली आहे. समलैंगिक संबंध असणार्‍या आणि ज्यांचे नातेवाईक, मित्रमैत्रिणी समलिंगी आहेत अशा व्यक्तींनी लक्षात घ्यावेत, असे काही मुद्दे - - समलैंगिकतेसंदर्भात शारीरिक, मानसिक, कौटुंबिक व सामाजिक पैलूंचा विचार करणे महत्त्वाचे आहे. समलिंगी व्यक्तीला त्याच्या स्वप्रतिमेबद्दल हजारो प्रश्न निर्माण होतात. आपण जसे आहोत तसे स्
error: Content is protected !!